मुख्यमंत्री ने अपने पूज्य पिताजी के कैलाशवासी हेने पर भारी दुःख एवं शोक व्यक्त किया


लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने पूज्यपिताजी के कैलाशवासी होने पर भारी दुःख एवं शोक व्यक्त किया है।मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘वे मेरे पूर्वाश्रम के जन्मदाता हैं। जीवन मेंईमानदारी, कठोर परिश्रम एवं निःस्वार्थ भाव से लोक मंगल के लिए समर्पितभाव के साथ कार्य करने का संस्कार बचपन में उन्होंने मुझे दिया। अन्तिमक्षणों में उनके दर्शन की हार्दिक इच्छा थी, परन्तु वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के खिलाफ देश की लड़ाई को उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनताके हित में आगे बढ़ाने का कर्तव्यबोध के कारण मैं न कर सका। कल 21अप्रैल को अन्तिम संस्कार के कार्यक्रम में लाकडाउन की सफलता तथामहामारी कोरोना को परास्त करने की रणनीति के कारण भाग नहीं ले पारहा हूं। पूजनीया माँ, पूर्वाश्रम से जुड़े सभी सदस्यों से भी अपील है कि वेलाॅकडाउन का पालन करते हुए कम से कम लोग अन्तिम संस्कार केकार्यक्रम में रहें। पूज्य पिताजी की स्मृतियों को कोटि-कोटि नमन करते हुएउन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा हूं। लाॅकडाउन के बाद दर्शनार्थआऊंगा।’

About admin