अयोध्या में राम मंदिर भी बनेगा, मस्जिद भी


नई दिल्ली : अयोध्या राम मंदिर जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एतिहासिक फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन रामलला विराजमान को सौंपते हुए मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही मस्जिद बनाने के लिए 5 एकड़ जमीन किसी अन्य जगह पर देने का आदेश दिया है। सर्वोच्च न्यायालय ने अपने फैसले में केंद्र सरकार को निर्देश दिए हैं कि तीन महीने में ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर निर्माण की रुपरेखा तय करे। कोर्ट के इस आदेश के बाद अब भगवान राम के भक्तों के बीच उत्साह है कि सालों से मंदिर निर्माण का उनका सपना पूरा हो सकेगा।सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के सभी पांच जजों ने सर्वसम्मिति से फैसला सुनाया है कोर्ट ने कहा की  एसआई की खुदाई  मंदिर के साक्ष्य मिले. कोर्ट ने कहा की खुदाई के साक्ष्यों को अनदेखा नहीं कर सकते हैं खुदाई में इस्लामिक ढांचे के सबूत नहीं मिले थे कोर्ट ने यह भी कहा कि अंग्रेजों के आने से पहले हिंदू वहां राम चबूतरे और सीता रसोई पर पूजा होती रही थी कोर्ट ने कहा कि आस्था और विश्वास पर कोई सवाल नहीं है कोर्ट ने कहा श्रीराम का जन्म अयोध्या में ही हुआ था इसमें कोई शक नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने रामलला को कानूनी मान्यता दी

फैसले की मुख्य बातें:-अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, मंदिर का रास्ता साफ,विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को मिलेगी,सुन्नी वक्फ को 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन मिलेगी,निर्मोही अखाड़े और शिया वक्फ बोर्ड का दावा खारिज,तीन महीने में केंद्र सरकार करेगी मंदिर ट्रस्ट का गठन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin