मुख्तार अब्बास नकवी ने प्रधानमंत्री की ओर से दरगाह अजमेर शरीफ पर चादर चढ़ाई

केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एक तरफ मानव मूल्यों तथा न्याय की रक्षा के लिए सूफी संतों की परम्परा में विश्वास रखते हैं तो दूसरी ओर श्री मोदी आतंकवाद के विरुद्ध ‘राष्ट्रवादी योद्धा’ हैं।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आतंकवाद को सहन नहीं करने की नीति अपनाकर राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए संकल्प के साथ काम कर रहे हैं। भारत की आध्यात्मिक और सूफी संस्कृति आतंकवाद और दूसरे किस्म की हिंसा को परास्त और समाप्त करके मानवता और शांति सुनिश्चित करने की गारंटी देती है।श्री नकवी ने अजमेर शरीफ में सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के 807वें उर्स पर उनकी दरगाह पर प्रधानमंत्री की ओर से चादर चढ़ाई। उन्होंने प्रधानमंत्री के संदेश को पढ़कर सुनाया। प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में वार्षिक उर्स के अवसर पर भारत और विदेश में रहने वाले ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के अनुयायिओं को बधाई और शुभकामनाएं दी।प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा, ‘हमारे देश की खूबसूरती विभिन्न धर्मों, समुदायों, मान्यताओं और पंथों के बीच सौहार्दपूर्ण सह-अस्तित्व है। अनेक संतों, पीर और फकीरों ने समय-समय पर देश को शांति, एकता और सौहार्द के संदेश दिए हैं। इन संतों और फकीरों ने अनुशासन, मर्यादा और आत्म-नियंत्रण का संदेश फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती भारत की महान आध्यात्मिक परम्परा के प्रतीक हैं। मानवता के प्रति ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की सेवा आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगी। इस महान संत के वार्षिक उर्स के अवसर पर दरगाह अजमेर शरीफ पर चादर भेज कर मैं उनके प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करता हूं।’इस अवसर पर श्री नकवी ने कहा कि भारत सुरक्षित हाथों में है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत और कुशल नेतृत्व में देश और लोगों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस्लाम को अपनी सुरक्षा कवच बनाकर आतंकवादी गतिविधियों में शामिल संगठन और लोग इस्लाम के सबसे बड़े दुश्मन हैं। भारत सामाजिक और सांप्रदायिक सौहार्द के लिए पूरे विश्व के लिए रोल मॉडल है। हमें सामाजिक सौहार्द और एकता के ताने-बाने को मजबूत बनाना होगा। उन्होंने कहा कि गरीब नवाज का जीवन सांप्रदायिक और सामाजिक सौहार्द के प्रति हमारे संकल्प को मजबूत बनाने में प्रेरणा देता है। यह एकता देश में विभाजन और टकराव की स्थिति पैदा करने के लिए षडयंत्र में शामिल शक्तियों को परास्त कर सकती है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का एकमात्र एजेंडा ‘देश का विकास और विश्वास का माहौल’ है। हमारा मंत्र ‘सबका साथ-सबका विकास’ है।श्री नकवी ने इस अवसर पर कयाद विश्रामस्थली में ख्वाजा गरीब नवाज विश्वविद्यालय की आधारशिला भी रखी। विश्वविद्यालय की स्थापना अजमेर दरगाह समिति करेगी। श्री नकवी ने अजमेर के सिविल लाइन इलाके में दरगाह अपार्टमेंट में ख्वाजा गरीब नवाज डिस्पेंसरी (ओपीडी) का उद्घाटन भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin