महाकाल एक्स्प्रेस को झंडी दिखाकर रवाना किया


नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वाराणसी में पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय की प्रतिमा का अनावरण किया और दीनदयाल उपाध्‍याय स्‍मारक राष्‍ट्र को समर्पित किया। उन्‍होंने तीन ज्‍योर्तिलिंग तीर्थ स्‍थलों-वाराणसी, उज्‍जैन और ओंकारेश्‍वर को जोड़ने वाली तीसरी कार्पोरेट ट्रेन –महाकाल एक्‍सप्रेस को भी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्‍होंने 430 बिस्‍तरों वाले सुपर- स्पैशल्टी सरकारी अस्‍पताल सहित 36 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया और 14 विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी।वाराणसी में पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय स्‍मारक केंद्र में उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय के स्‍मारक स्‍थल के साथ स्‍वयं को जोड़कर आज यह क्षेत्र अपने नाम ‘पडाव’ के महत्‍व को और ज्‍यादा मजबूती प्रदान कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि यह स्‍थान ऐसे मंच के रूप में विकसित होगा, जहां सेवा, बलिदान, न्‍याय और जनहित सब एक स्‍थान पर होंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह स्‍मारक स्‍थल और उपवन, और यहां स्‍थापित भव्‍य प्रतिमा भावी पीढि़यों को नैतिकता और दीनदयाल जी के विचारों का अनुसरण करने के लिए प्रेरित करती रहेगी।प्रधानमंत्री ने कहा कि दीनदयाल उपाध्‍याय जी ने हमें अंत्‍योदय का मार्ग दिखाया, जो समाज के अंतिम व्‍यक्ति का उत्‍थान है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस विचार से प्रेरणा पाकर 21वीं सदी का भारत अंत्‍योदय के लिए काम कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि इस पवित्र अवसर पर लगभग 1250 करोड़ रुपये मूल्‍य की परियोजनाओं का शुभारंभ किया गया है, जो वाराणसी सहित समूचे पूर्वांचल को लाभान्वित करेंगी। उन्‍होंने कहा, ‘ये सभी परियोजनाएं काशी सहित समूचे पूर्वांचल में पिछले पांच वर्ष से जारी पुनरुद्धार के संकल्‍प का भाग हैं। इन वर्षों में वाराणसी जिले में 25 हजार करोड़ रुपये मूल्‍य के विकास कार्यों को पूर्ण किया गया है या वे प्रगति पर हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin