बाबूलाल गौर पंचतत्व में विलीन

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर जी का बुधवार को निधन हो गया। उनके निधन का समाचार सुनते ही भोपाल से दिल्ली तक शोक की लहर दौड़ गयी। बाबूलाल गौर जी की पार्थिव देह बुधवार को दोपहर पार्टी के प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल उपाध्याय परिसर में कार्यकर्ताओं और आम नागरिकों के दर्शनार्थ रखी गयी। पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं एवं विभिन्न समाज संगठनों व धर्म गुरूओं ने गौरजी को श्रद्धासुमन अर्पित किए और उनके परिजनों को ढांढस बंधाया। तत्पश्चात् उनकी अंतिम यात्रा सुभाष नगर विश्राम घाट पहुंची जहां उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।  मुख्यमंत्री कमलनाथ, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराजसिंह चौहान,  प्रभात झा, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व राज्यपाल प्रो. कप्तानसिंह सोलंकी, सहित भाजपा के वरिष्ठ नेताओं, विभिन्न समाज के प्रमुखों ने गौर जी के निवास पहुंचकर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए।   गौर के निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित पार्टी के केन्द्रीय नेता एवं विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रमुख नेताओं ने शोक संवेदनाएं व्यक्त की।

शिवराजसिंह चौहान:  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शोक सभा में कहा कि आदरणीय बाबूलाल गौर को सत्य के लिए लड़ने वाले सिपाही और मज़दूरों, गरीबों व कमज़ोर वर्ग के हितों के रक्षक के रूप में सदैव याद किया जायेगा।

राकेश सिंह  :प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि आदरणीय बाबूलाल गौर जी के निधन से न सिर्फ भारतीय जनता पार्टी अपितु मध्यप्रदेश की राजनीति में एक युग की समाप्ति हुई है। उन्होंने जिजीविषा के साथ प्रदेश में हजारों कार्यकर्ताओं का निर्माण किया। वे सभी के दुख और सुख में सहभागी बनते थे। आज अगर मध्यप्रदेश को हम विकसित रूप में देखते है तो इसकी आधारशिला आदरणीय बाबूलाल गौर जी ने रखी। भोपाल के विकास में उनका योगदान अविस्मरणीय है।

जनसंघ के समय से लगातार पार्टी की मजबूती के लिए काम करते रहे गौर : नरेंद्र मोदी

                स्व. बाबूलाल गौर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह, पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष श्री जे.पी.नड्डा ने श्रद्धांजलि अर्पित की है। केंद्रीय नेताओं ने ईश्वर से स्व. गौर की आत्मिक शांति एवं उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना की है।   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्व. बाबूलाल गौर जी के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट किया है-बाबूलाल गौर जी के निधन से गहरा दुःख हुआ। ईश्वर शोक संतप्त परिवार को दुःख की इस घड़ी में धैर्य और संबल प्रदान करे। श्री बाबूलाल गौर ने दशकों तक जनता की सेवा की। जनसंघ के जमाने से वे पार्टी को मजबूती प्रदान करने के लिए लगातार काम करते रहे। एक मंत्री और मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने प्रदेश का कायाकल्प करने के प्रयास किए।   पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह ने कहा है- मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री  बाबूलाल गौर जी के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। उनका पूरा जीवन प्रदेश की जनता की सेवा में समर्पित रहा। बाबूलाल गौर जी भारतीय मजदूर संघ’ के संस्थापक सदस्य थे।

दलीय राजनीति से ऊपर सर्वमान्य नेता थे श्री गौर – मुख्यमंत्री कमल नाथ

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर के निधन पर गहन दु:ख व्यक्त किया है। श्री कमल नाथ ने शोक संदेश में कहा कि श्री बाबूलाल गौर दलीय राजनीति से  ऊपर प्रदेश के सर्वमान्य नेता थे। उन्हें प्रदेश के साथ भोपाल के विकास की चिंता हमेशा रहती थी। जब मैं केन्द्र में मंत्री था, तब वे कई बार मध्यप्रदेश के हितों को लेकर मेरे पास  आते थे और कुछ न कुछ ले जाते थे।कमल नाथ ने कहा कि श्री गौर एक जुझारु और संघर्षशील नेता थे। जनता से उनका जीवंत सम्पर्क था। जनहित के मुद्दों पर वे कोई समझौता नहीं करते थे। एक बेबाक और स्पष्टवादी नेता थे।

बाबूलाल गौर कर्मठ राजनेता और जिंदादिल इंसान थे : राज्यपाल

राज्यपाल लालजी टंडन ने यहाँ प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय बाबूलाल गौर की पार्थिव देह पर पुष्प चक्र अर्पित कर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि दी। टंडन दोपहर में लखनऊ से भोपाल आकर सीधे सुभाष नगर विश्राम घाट पहुँचे। उन्होंने गौर के अंतिम दर्शन कर उन्हें भावभीनी विदाई दी।राज्यपाल टंडन ने कहा कि  गौर के निधन से प्रदेश ने एक कर्मठ राजनेता और जिंदा-दिल इंसान खो दिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin