डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 पर हालात, कार्रवाई और तैयारियों की समीक्षा की


नई दिल्ली : केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने यहां कोविड-19 को लेकर हालात, राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा उठाए गए कदमों और रोकथाम व प्रबंधन से संबंधित उनकी तैयारियों की समीक्षा की। इस बैठक के दौरान सुश्री प्रीति सुदान, सचिव (एचएफडब्लू), डॉ. बलराम भार्गव, डीजी (आईसीएमआर), अरुण सिंघल, विशेष सचिव (एच), संजीव कुमार, विशेष सचिव (एच), डीजीएचएस, वीवी शर्मा, सदस्य सचिव (एनडीएमए); डॉ. रणदीप गुलेरिया, निदेशक, एम्स; डॉ. मीनाक्षी भारद्वाज, डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल की एमएस; निदेशक एनसीडीसी डॉ. सुजीत सिंह, आईसीएमआर के वैज्ञानिक डॉ. रमन गंगाखेडकर; और मंत्रालय के अधिकारी मौजूद रहे।डॉ. हर्षवर्धन को कोविड-19 पर उभरते राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय हालात और भारत सरकार व राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए उठाए गए कदमों से अवगत कराया गया। उन्होंने हालात और क्वारंटाइन सुविधाओं; अलग वार्डों, व्यक्तिगत सुरक्षा के उपकरण (पीपीई), मास्क, परीक्षण किट आदि की प्रचुरता के संबंध में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अस्पतालों में साफ-सफाई और हाइजीन बरकरार रखने और कोविड-19 के नियंत्रण और प्रबंधन के लिए सभी निर्धारित प्रोटोकॉल का पालन करने की सलाह दी। उन्होंने तमाम राज्यों द्वारा सामाजिक तौर पर दूरी बनाने के लिए उठाए गए कदमों की विस्तार से समीक्षा की। डॉ. हर्षवर्धन ने गैर-जरूरी यात्रा और सामूहिक समारोहों से बचने के लिए किए गए उपायों की भी समीक्षा की।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने राज्यों की क्षमता बढ़ाने, सामाजिक तौर पर दूरी बनाने, घर से काम आदि के जरिए रोकथाम के लिए लोगों में व्यापक जागरूकता के लिए आगे किए जाने वाले उपायों पर भी चर्चा की। इस समीक्षा बैठक में क्वारंटाइन सुविधाओं के प्रबंधन पर विस्तार से चर्चा की गई।आज की बैठक में हुई चर्चा के नतीजों को कल कोविड-19 पर मंत्रियों के समूह (जीओएम) की बैठक में सामने रखा जाएगा।डॉ. हर्षवर्धन ने कंट्रोल रूम के माध्यम से कोविड-19 पर सभी शंकाओं को दूर करने के लिए 24×7 कंट्रोल रूम हेल्पलाइन की क्षमता बढ़ाने के लिए ज्यादा लाइनें जोड़ने और अतिरिक्त मानव संसाधन तैनात करने का निर्देश दिया।इसके अतिरिक्त, कोविड-19 से प्रभावित देशों से भारतीय नागरिकों को निकालने के सरकार के प्रयासों के तहत मिलान, इटली से आज सुबह एयर इंडिया की एक फ्लाइट 218 लोगों को लेकर दिल्ली पहुंची। प्रोटोकॉल के तहत इन लोगों को छावला स्थित आईटीबीपी शिविर में क्वारंटाइन किया गया है। इसके अलावा, ईरान से निकाले गए 236 लोगों का तीसरा बैच आज पहुंचा; उन्हें जैसलमेर में सेना के शिविर में क्वारंटाइन किया जा रहा है। ईरान से प्रस्थान करने से पहले ही उनका परीक्षण किया जा चुका है। फिलहाल सभी में लक्षण नहीं दिखे हैं। कोविड-19 प्रभावित देशों से आने वाले कुल 265 यात्रियों को त्रिवेंद्रम, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु और हैदराबाद में क्वारंटाइन किया गया है।फिलहाल, अंतिम अपडेट के अनुसार 23 नए मामलों का पता चला है। इनमें से महाराष्ट्र से 17, तेलंगाना से 2, राजस्थान से 1 और केरल से 3 हैं। दोनों मृतक मरीज पहले से ही बीमार थे। इन मामलों में संपर्क में आने वालों की निगरानी की जा रही है। अब तक इस तरह से 4000 से ज्यादा लोगों की पहचान हुई है, जिन्हें निगरानी में रखा गया है।बुलढाणा मरीज, जो एक निजी अस्पताल में थे और उनका नमूना लिया गया था और उनकी कल मौत हो गई, का कोविड-19 टेस्ट निगेटिव आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin