डी.वी.सदानंद गौड़ा ने कहा, ‘राज्यर के अंदर वितरण राज्य् सरकार की जिम्मेददारी’


नई दिल्ली : केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री डी.वी. सदानंद गौड़ा ने मध्य प्रदेश में यूरिया कमी की आशंका को आधारहीन बताया है। कुछ ऐसी खबरें आई है कि मध्‍य प्रदेश के कुछ हिस्‍से में यूरिया की कमी है। यूरिया की कमी की बात वास्‍तविक आंकड़ों से मेल नहीं खाती है। उन्‍होंने नई दिल्‍ली में कहा कि चालू रबी मौसम के दौरान हमने मध्‍य प्रदेश सहित पूरे देश में यूरिया की पर्याप्‍त मात्रा की उपलब्‍धता सुनिश्चित की है।मध्‍य प्रदेश के किसान कल्‍याण और कृषि विकास, बागवानी एवं खाद्य प्रसंस्‍करण मंत्री सचिन सुभाष यादव ने गौड़ा से मुलाकात की और उन्‍हें केन्‍द्र सरकार द्वारा यूरिया की उपलब्‍धता सुनिश्चित करने में निरंतर सहयोग के लिए धन्‍यवाद दिया।गौड़ा ने कहा कि कल मैंने मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री से इस संबंध में बात की और उन्‍हें बताया कि राज्‍य में यूरिया की पर्याप्‍त मात्रा उपलब्‍ध कराई गई है। मैंने उन्‍हें आश्‍वस्‍त किया कि अगले 2-3 दिनों में 15 यूरिया रेक मध्‍य प्रदेश पहुंचेंगे। इससे मांग पूरी की जा सकेगी।  गौड़ा ने कहा कि वर्तमान संकट जमीनी स्‍तर पर वितरण नेटवर्क में समस्‍या की वजह से हो सकता है। हाल में राज्‍य सरकार ने 80 प्रतिशत यूरिया का वितरण कोऑपरेटिव के जरिये करने का निर्णय लिया है और शेष 20 प्रतिशत वितरण निजी डीलर नेटवर्क के जरिये किया जा रहा है। पहले यह अनुपात 50:50 था। हो सकता है कि इस निर्णय के कारण राज्‍य मार्कफेड विक्रेता केन्‍द्रों में खरीदारों की भीड़ बढ़ गई और इसे ही यूरिया कमी के रूप में बताया जा रहा है।गौड़ा ने कहा कि राज्‍य के अंदर यूरिया का वितरण राज्‍य कृषि विभाग की जिम्‍मेदारी है। उर्वरक विभाग राज्‍य स्‍तर पर उपलब्‍धता सुनिश्‍चित करता है। हम राज्‍य सरकार के साथ मिलकर कार्य करते रहेंगे, ताकि किसानों को समय पर यूरिया की पर्याप्‍त मात्रा उपलब्‍ध हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin