संत सिंगाजी तपोस्थली को प्रमुख धार्मिक पर्यटन केन्द्र बनाया जायेगा: मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश में किसानों को आर्थिक रूप से आत्म-निर्भर बनाने तथा उनके समग्र कल्याण के लिए नई कृषि नीति बनाई जायेगी। निमाड़ क्षेत्र के प्रमुख संत श्री सिंगाजी की तपोस्थली को प्रमुख धार्मिक पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से आत्म-निर्भर बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा कारगर कदम उठाये जा रहे है। किसानों के हित में क्रांतिकारी निर्णय लेकर उन्हें क्रियान्वित भी किया। श्री कमल नाथ आज इंदौर संभाग के खण्डवा जिले के मूंदी क्षेत्र में स्थित संत सिंगाजी थर्मल पावर प्लांट के समीप आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह में उन्होंने जय किसान फसल ऋण माफी योजना में किसानों को ऋण माफी प्रमाण-पत्र और सम्मान प्रदान किये तथा सिंगाजी पावर प्लांट के द्वितीय चरण का लोकार्पण किया। श्री नाथ ने विभिन्न विकास कार्यो का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया।मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले 65 दिनों में जनहितैषी नीति एवं नीयत का परिचय दिया है। राज्य सरकार द्वारा हर प्रदेशवासी के कल्याण के लिए संकल्पबद्ध होकर कार्य किया जा रहा है। सरकार द्वारा हर वचन को पूरी ईमानदारी से निभाने के कटिबद्ध होकर प्रयास किए जा रहे हैं। जन-आकांक्षाओं एवं विश्वास पर खरा उतरने के लिए निरतंर कार्य किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin