वरिष्ठ चिकित्सक रोज वार्डों में जाएं, मरीजों को सर्वोत्तम इलाज दें

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि कोविड अस्पतालों में वरिष्ठ चिकित्सक रोज वार्डों में जाएं तथा मरीजों को सर्वोत्तम इलाज दें। इलाज में थोड़ी भी लापरवाही अथवा चूक बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा सख्त कार्रवाई होगी। हमीदिया अस्पताल को कोरोना के इलाज में आदर्श अस्पताल की भूमिका निभाना चाहिए और वहां मृत्यु दर न्यनतम करने का प्रयास किया जाए। चौहान ने एसीएस हैल्थ को निर्देश दिए कि उन्हें हमीदिया में इलाज की रोज रिपोर्ट दें।मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में आने-जाने के लिए अब ई-पास की आवश्यकता नहीं होगी। राज्य से बाहर आने-जाने के लिए ई-पास लिए जा सकेंगे। मुख्य सचिव श्री बैंस ने बताया कि ये ई-पास ऑटो जनरेटेड होंगे।मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे सागर जिले की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पूछा कि सागर में मेडिकल कॉलेज में सारी सुविधाएं होने के बावजूद कुछ मरीजों को अन्यत्र रैफर क्यों किया गया ? उन्होंने एसीएस हैल्थ को सागर मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाएं सुधरवाने के निर्देश दिए। मरीजों को अन्यत्र रैफर किए जाना ठीक नहीं है।बुरहानपुर जिले की समीक्षा में बताया गया कि वहां रिकवरी रेट काफी अच्छी 67 प्रतिशत है। वहां 297 पॉजिटिव प्रकरणों में से 200 स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। बुरहानुपर में वर्तमान में एक्टिव प्रकरणों की संख्या 82 है। सी.एच.एल. अपोलो अस्पताल में संक्रमण फैलने के मामले में मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अस्पताल में संक्रमण फैलना घोर लापरवाही है, अस्पताल को नोटिस दिया जाए।नीमच जिले में कोविड मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि नीमच जिले पर विशेष ध्यान दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin