मध्यप्रदेश ने पर्यटन के क्षेत्र में बनाई अन्तर्राष्ट्रीय पहचान


भोपाल : पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने पलाश होटल में आयोजित हॉफ ईयरली मैनेजर्स मीट में पर्यटन विकास निगम के अधिकारियों-कर्मचारियों को उत्कृष्टता पुरस्कार 2018-19 प्रदान किये। बघेल ने बताया कि विगत दस माह में जो पहचान बनाई है, उसके लिये निगम के अधिकारी-कर्मचारी प्रशंसा के पात्र हैं।

मंत्री बघेल ने कहा कि प्रदेश मे पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार और निवेश की व्यापक संभावना हैं। इसके लिये निगम कर्मी प्रोफेशनल नजरिये से काम करें। पर्यटन नीति के अन्तर्गत फिल्म टूरिज्म, एडवेन्चर टूरिज्म एवं वाटर टूरिज्म की गतिविधियों का विस्तार करें। बघेल ने इन क्षेत्रों में निवेश की योजना तैयार करने को कहा।

सचिव पर्यटन फैज अहमद किदवई ने कहा कि होटल्स और रिसॉर्टस द्वारा स्थानीय स्तर पर पर्यटन की जानकारी एकत्रित कर सोविनियर प्रकाशित की जाये। इसमें ब्रांडिंग और स्थानीय पर्यटन की जानकारी समाहित हो। पर्यटन की प्रापर्टी का ब्रोशर भी तैयार करें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में स्टे-होम से पर्यटकों को लुभाया जा सकता है। ये जानकारी होटल्स और रिसॉर्टस की वेबसाइट पर भी उपलब्ध कराएँ। श्री किदवई ने कहा कि केरल राज्य की तरह मध्यप्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में प्लास्टिक का उपयोग प्रतिबंधित करने के प्रयास किये जाएंगे।

अदम्य साहस का पुरस्कार श्रेणी

बेतवा रिट्रीट ओरछा में वहाँ के अधिकारियों-कर्मचारियों द्वारा अपनी जान की परवाह किये बिना, अदम्य साहस दिखाते हुए बेतवा नदी में बाढ़ में फँसे सभी लोगों को रात में ही रेसक्यू ऑपरेशन कर सुरक्षित बाहर निकालकर उनकी जान बचाई थी। मंत्री बघेल ने समारोह में इस रेसक्यू ऑपरेशन के टीम लीडर संजय मल्होत्रा प्रबंधक के साथ पुष्पेन्द्र केवट, मुकेश केवट, लक्ष्मीनारायण प्रजापति, राजेन्द्र परिहार, भगवानदास केवट, जयराम केवट को प्रशस्ति-पत्र, स्मृति चिन्ह और 11-11 हजार रूपये पुरस्कार से सम्मानित किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin