बैतूल के दुर्गम क्षेत्र भण्डारपानी में मदद देने पहुँचे कोरोना वारियर्स

भोपाल: कोरोना संक्रमण में दुर्गम क्षेत्रों में ग्रामीणों तक आवश्यक सामग्री पहुँचाना काफी चुनौती पूर्ण होता है। बैतूल जिले में 1800 फीट ऊँचाई की पहाड़ी पर दुर्गम मार्गों से ग्राम भण्डारपानी में ये सामग्री पहुँचाकर पुलिस, वन, स्वास्थ्य और राजस्व अमले ने मिसाल कायम की है।बैतूल से 60 किलोमीटर दूर चौपना कस्बा है यहां कुछ गाँव को मिलाकर 60 हजार की आबादी है। यहां एक पुलिस थाना है जिसमें, 20 पुलिसकर्मियों का स्टाफ है। ये पुलिस कर्मी दिन-रात एक कर इन गाँव में राशन सामग्री पहुँचा रहे हैं। पुलिस ने ग्राम भण्डारपानी में आटा, दाल, चावल, नमक, मिर्च और तेल जैसी राहत सामग्री पहुँचाकर ग्रामीणों की भरपूर मदद की है। इसके अलावा, पुलिस ने दुर्गम ग्राम दानवाखेड़ा, भतोड़ी, चिखलपाठी और कोलिया में राशन पहुँचाने का भी काम किया है। स्वास्थ्य कर्मियों ने एक गर्भवती महिला को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने में मदद की है। थाना प्रभारी गोविंद सिंह राजपूत बताते हैं कि उन्होंने और उनके सहयोगी स्टाफ ने इस संकट के दौर में चौपना थाने को ही अपना घर बना लिया है। लॉक डाउन के दौरान वे 24 घंटे थाने में ही मौजूद रहते हैं।स्वास्थ्य एवं वनकर्मियों का दल दुर्गम रास्ते से होते हुए 6 घंटे में ग्राम भंडारपानी पहुँचा था। दल ने ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण किया और उन्हें आवश्यक दवाईयाँ भी उपलब्ध कराई। स्वास्थ्य एवं वन कर्मियों ने ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य सुरक्षा उपायों की भी जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin