पर्यटन की असीम संभावनाओं से रोजगार को जोड़ा जाएगा : मुख्यमंत्री कमल नाथ


भोपाल: मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश में उपलब्ध पर्यटन की असीम संभावनाओं को रोजगार से जोड़ा जाएगा। उन्होने कहा कि हम ऐसी रणनीति बना रहे हैं, जिससे पर्यटन स्थल राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय आकर्षण के  केन्द्र बनें और लोगों को व्यापक पैमाने पर रोजगार उपलब्ध हो। कमल नाथ खण्डवा जिले में इंदिरा सागर बांध स्थित हनुवंतिया पर्यटन स्थल में चौथे जल महोत्सव का शुभारंभ कर रहे थे। उन्होंने इस मौके पर हनुवंतिया जलाशय में मोटर बोट क्रूज को हरी झंडी दिखाई और 72 करोड़ लागत के 35 निर्माण कार्यों की शुरुआत की।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि मनोरंजन की दृष्टि से पर्यटन क्षेत्र सर्वाधिक महत्वपूर्ण  हैं। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश में विश्व-स्तर के पर्यटन स्थल हैं। बड़ी संख्या में जल और वन संपदा है। जरूरत है कि हम अपनी इस संपदा को आर्थिक और रोजगार की दृष्टि से विकसित करें। उन्होंने कहा इससे प्रदेश के नागरिकों की आय में वृद्धि करने के साथ ही उनके जीवन-स्तर में भी सुधार ला सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हनुवंतिया जैसे अन्य पर्यटन स्थलों का भी सुनियोजित विकास किया जाएगा। इससे बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। 

नया टूरिस्ट सर्किट:पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने बताया कि महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, महेश्वर, मांडू, मोहनखेड़ा और सिंगाजी को मिलाकर एक टूरिस्ट सर्किट विकसित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मांडू में आदिवासी संस्कृति, परम्परायें और उनके खान-पान से पर्यटकों को परिचित कराने की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार धार्मिक और ट्राइबल टूरिज्म को बढ़ावा दे रही है। श्री बघेल ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पिछले दिनों उज्जैन स्थित महाकालेश्वर के लिए 300 करोड़ और ओंकारेश्वर के लिये 156 करोड़ की योजनाओं को स्वीकृत करने का ऐतिहासिक कार्य किया।

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने ओंकारेश्वर परियोजना स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम को पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव और विधायक श्री नारायण पटेल ने भी संबोधित किया।

पहला कदमटेबलेट का लोकार्पण और वितरण:मुख्यमंत्री कमल नाथ ने जल महोत्सव में खण्डवा जिले के 319 आँगनबाड़ी केन्द्रों के लिये ‘पहला कदम’ टेबलेट का लोकार्पण और वितरण किया। इस टेबलेट के जरिए आँगनबाड़ी में बच्चों को डिजिटल लर्निंग के लिए  तैयार किया जाएगा। इससे 11 हजार 803 बच्चे लाभान्वित होंगे। 

एक माह चलेगा जल महोत्सव:हनुवंतिया में शुरु हुआ जल महोत्सव एक माह तक चलेगा। इंदिरा सागर बांध एशिया का दूसरा सबसे बड़ा मानव निर्मित जलाशय है। इस स्थल पर नर्मदा नदी पर बाँध के बैक वॉटर से बड़ी संख्या में प्राकृतिक रूप से टापू निर्मित हुए हैं। इसकी शुरुआत मूंदी से कुछ किलोमीटर दूरी पर हनुवंतिया से होती है। महोत्सव के शुभारंभ समारोह में बड़ी संख्या में पर्यटक, क्षेत्रीय नागरिक एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin