कोरोना वायरस को युद्ध से बड़ा संकट मानकर पूरी क्षमता से मुकाबला करें राज्य – प्रधानमंत्री


मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री मोदी को दी कोरोना से निपटने के प्रयासों की जानकारी

भोपाल: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्यों में कोरोना की स्थिति की जानकारी लेते हुए मुख्यमंत्रियों से कहा कि सामूहिकता में शक्ति होती है। कोरोना वायरस को युद्ध से भी बड़ा संकट मानकर सभी राज्य पूरी क्षमता से इसका मुकाबला करें। मोदी ने कहा कि लड़ाई दरअसल अब शुरू हो रही है। इसके लिए सभी राज्यों को तैयार रहना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी चिंता है कि ज्यादा क्षति न हो, लोग लक्ष्मण रेखा पार न करें, और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्होंने कहा कि भारत सरकार इस दिशा में राज्यों को पूरी सहायता कर रही है। साथ ही, राज्यों के अपने प्रयास भी सराहनीय हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मध्यप्रदेश के  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सुझावों का स्वागत करते हुए मध्यप्रदेश में कोरोना के नियंत्रण के लिए उठाए गए विशिष्ट कदमों की प्रशंसा की।मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि चिकित्सकों की टीम लगातार कार्य कर रही है। जो व्यक्ति संक्रमण की बार्डर लाइन पर आए, उनका मेडिकल चैकअप कर उन्हें आइसोलेशन में रखा जाता है। संक्रमण की टेस्टिंग की प्रयोगशाला के माध्यम से व्यवस्था की गई है। एक अन्य लैब भी शुरू हो रही है, जिससे राज्य में 480  टेस्टिंग केपीसिटी विकसित हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने इंदौर का उल्लेख करते हुए कहा कि वहाँ कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए डेडीकेटेड हास्पिटल की व्यवस्था है। ऐसी ही व्यवस्था भोपाल में भी है। अन्य संभागीय मुख्यालयों के लिए भी अस्पताल चिन्हित कर लिए गए हैं। राज्य-स्तरीय और जिला-स्तरीय नियंत्रण कक्ष कार्य कर रहे हैं। आवश्यकतानुसार ड्रोन का उपयोग भी किया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया गया है। आवश्यक वस्तुएँ उपलब्ध करवाने के लिए वाहनों को  अनुमति दी गई है। श्रमिकों को भोजन और रहवास के लिए हर जिले में मदद की गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin