कांग्रेस प्रदेश में मिली विधानसभा की जीत को लोकसभा में भी दोहराना चाहती है

कांग्रेस मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली जीत को लोकसभा चुनाव में भी दोहराना चाहती है. २०१४  के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के चलते कांग्रेस प्रदेश की २९  सीटों में से केवल २  सीटें ही जीत पाई थी. जबकि एक सीट उसे उपचुनाव में मिली थी. लेकिन इस बार कांग्रेस सूबे की २९  लोकसभा सीटों में ज्यादा से ज्यादा पर जीत दर्ज करने की तैयारी में है इसे लेकर पार्टी मंथन का दौर जारी है जल्द ही कुछ नामो की घोषणा होने की उमीद है सूत्रों की मानतो कुछ सीटो पर प्रताय्शियो का चयन हो चूका है वंही  प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं काग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जी का कहना है की हम इस बार चुनाव में अपने किये गये कर्यो के आधार पर जनता के बिच जाएँगे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि ८४  दिनों के कामकाज को लेकर ही हम जनता से लोकसभा चुनाव में वोट मांगेंगे। लोकसभा चुनाव में कितनी सीटें आएंगी इसे लेकर कमलनाथ ने कहा कि २२  से २३  सीट जीतने की उम्मीद है। दिग्विजय सिंह को चुनाव लड़ने पर सीएम ने कहा कि वे जहां से चुनाव लड़ना चाहें वहां से चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन चुनाव लड़ने के लिए मैंने उनसे कहा है कि वह का सबसे कठिन सीट का चुनाव करें, ऐसी सीट जहां से पार्टी हार रही हो उन कठिन सीट में से ही किसी सीट का चुनाव कर लें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin