मुख्यमंत्री बघेल शामिल हुए गुरु गोविंद सिंह जी के प्रकाश पर्व समारोह में


गुरूग्रंथ साहब के समक्ष मत्था टेक कर प्रदेश की सुख समृद्धि और खुशहाली की कामना की

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रायपुर के पंडरी स्थित गुरूद्वारे में सिक्ख धर्म के 10 वें गुरु गुरु गोविंद सिंह जी की जयंती पर आयोजित 353 वें प्रकाश पर्व समारोह में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने गुरूग्रंथ साहब के समक्ष मत्था टेक कर प्रदेश की सुख समृद्धि और खुशहाली की कामना की।मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर कहा कि गुरु नानक देव जी ने सिक्ख धर्म की स्थापना की, गुरु गोविन्द सिंह जी ने खालसा पंथ की स्थापना की। उन्होंने समाज को जोड़ने का अदभुत कार्य किया। गुरु गोविंद सिंह जी समाज सुधारक तो थे ही, वे बड़े योद्धा भी थे। उन्होंने वीर योद्धा तैयार किए साथ ही वे बड़े साधक भी थे। गुरु गोविंद सिंह जी ऐसे गुरु थे जिन्होंने कहा कि गुरु ग्रन्थ साहेब ही सिक्ख धर्म के गुरु हांेगे। अब गुरु ग्रन्थ साहब ही हमारा मार्गदर्शन करते हैं।बघेल ने कहा कि आज हमें गुरू गोविंद जी द्वारा बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लेना चाहिए। यही हमारी उनके प्रति विनम्र श्रद्धांजलि होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह धरती हम सब की है। हम सबको मिलकर इसकी रक्षा और देखभाल करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिक्ख समाज एक जिंदा दिल कौम है, जो हर स्थिति में खुश रहती है और खूब मेहनत करती है। मुख्यमंत्री ने गुरू गोविंद सिंह जी के प्रकाश पर्व पर सिक्ख समाज सहित प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा ने भी सिक्ख समाज को बधाई देते हुए यह जानकारी दी कि हाल ही में वे करतारपुर की यात्रा कर वापस लौटे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

About admin